1857 का विद्रोह

1857 का विद्रोह: भारत में अंग्रेजी शासन की स्थापना के साथ ही उसका विरोध शुरू हो गया था। शायद ही ऐसा कोई साल बीता हो जब देश की जनता ने कंपनी और अंग्रेजों का विरोध नहीं किया हो। बंगाल में …

भारतीय न्यायपालिका

भारतीय न्यायपालिका: भाग -5, अनुच्छेद 124-147 एवं भाग-6, अनुच्छेद 214-237 सर्वोच्च न्यायालय भारतीय संविधान के अंतर्गत एकल न्यायिक व्यवस्था की स्थापना की गई है। पूरे देश के लिए गांव से लेकर केंद्र तक न्यायालयों की एकीकृत ऋंखला है। सर्वोच्च न्यायालय …

भारत की संघीय विधायिका

भारत की संघीय विधायिका भारत में केंद्रीय व्यवस्थापिका को संसद के नाम से भी जाना जाता है। भारतीय संसद का गठन लोकसभा, राज्यसभा और राष्ट्रपति को मिलाकर होता है। राष्ट्रपति संसद का अभिन्न अंग होता है क्योंकि उसके हस्ताक्षर के …

केंद्रीय मंत्रिपरिषद्

केंद्रीय मंत्रिपरिषद् का गठन भारतीय संविधान के अनुच्छेद 74 के तहत राष्ट्रपति को उसके दायित्वों के निर्वाह में सलाह देने के लिए केंद्रीय मंत्रिपरिषद् का प्रावधान किया गया है। केंद्र और राज्य मंत्रिपरिषद् की सदस्य संख्या लोकसभा और राज्य विधानसभा …

भारत का राष्ट्रपति

भारत में संसदीय शासन प्रणाली अपनाई गई है जो ब्रिटेन के नमूने पर है। भारत का राष्ट्रपति संवैधानिक एवं नाममात्र का प्रमुख होता है। जबकि वास्तविक कार्यपालिका प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल होता है। संविधान के अनुच्छेद 52 में …

इंटेलिजेंस ब्यूरो ACIO-II भर्ती 2017

इंटेलिजेंस ब्यूरो या ख़ुफ़िया विभाग  भारत की आतंरिक ख़ुफ़िया एजेंसी है. यह दुनिया की सबसे पुरानी ख़ुफ़िया एजेंसी है, इसका गठन सन् 1885 में हुआ था. IB (आई बी) समय-समय पर ACIO ग्रेड 2 की भर्तियाँ करती रहती है परन्तु …

आधुनिक भारत में सामाजिक-धार्मिक आंदोलन

आधुनिक भारत में सामाजिक-धार्मिक आंदोलन: 19वीं शताब्दी में उदीयमान राष्ट्रीय चेतना ने प्रबुद्ध भारतीयों को प्रेरित किया कि वे अपने सामाजिक और धार्मिक मान्यताओं में समय के अनुरूप कुछ सुधार करें।  इस समय हिन्दू, इस्लाम, पारसी, सिख आदि सभी भारतीय …

मौर्य प्रशासन

मौर्य प्रशासन: मौर्य प्रशासन के अंतर्गत भारत को पहली बार राजनीतिक एकता प्राप्त हुई. सत्ता का केंद्र राजा होता था परन्तु वह निरंकुश नहीं होता था. कौटिल्य ने राज्य के सात अंग (सप्तांग) बताये हैं- राजा, अमात्य, जनपद, दुर्ग, कोष, …

प्राचीन भारतीय लेखक और उनकी पुस्तकें

प्राचीन भारतीय लेखक और उनकी पुस्तकें विष्णुशर्मा : पंचतंत्र नारायण भट्ट : हितोपदेश गुणाढय : वृहत्कथा क्षेमेन्द्र : वृहत्कथा मंजरी सोमदेव : कथासरितसागर वराहमिहिर : वृहत्संहिता कामंदक : नीतिसार तिरवल्लुवर : कुरल या तिरक्कुरल भवभूति : मालती माधव, उत्तर रामचरित, …

मौर्योत्तर काल

मौर्योत्तर काल के प्रमुख राजवंश शुंग वंश वृहद्रथ अंतिम मौर्य शासक था. उसे उसके ब्राह्मण मंत्री और सेनानायक पुष्यमित्र शुंग ने मारकर 185 ई.पू. में शुंग वंश की स्थापना की. शुंग वंश के 9 वें शासक भागभद्र (भागवत) के दरबार …
error: Content is protected !!