LATEST

अकबर की धार्मिक नीति

अकबर की धार्मिक नीति मुगल साम्राज्य के संस्थापक बाबर ने किसी व्यवस्थित या योजनाबद्ध धार्मिक नीति की शुरुआत नहीं की थी। निजी तौर पर बाबर...

वित्त आयोग : गठन एवं कार्य

वित्त आयोग अनुच्छेद 280 से 281वित्त आयोग एक संवैधानिक संस्था है। इसका गठन अनुच्छेद 280 के अधीन राष्ट्रपति द्वारा प्रत्येक 5 वर्ष की समाप्ति पर...

मथुरा कला शैली

मथुरा कला मथुरा कला शैली गांधार शैली के समान ही कुषाण काल में प्रचलित थी। मथुरा इस शैली का एक विशाल केंद्र था। यहां असंख्य...

लोकसभा : संरचना, शक्तियाँ एवं कार्य

लोकसभा लोकसभा जनता के द्वारा प्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित प्रतिनिधियों का सदन है। ज्ञातव्य है कि भारत में लोकसभा का प्रथम आम चुनाव कुल 489...

गांधार कला शैली

गांधार कला शैली कुषाण काल का मूर्तिकला की दृष्टि से खास महत्व है। इस समय मूर्तिकला के दो प्रमुख केंद्र थे; पहला गांधार तथा दूसरा...

स्वराज्य दल : गठन, उद्देश्य एवं उपलब्धियां

05 फरवरी 1922 को चौरी चौरा की घटना के बाद असहयोग आन्दोलन को रोक दिया गया। जब आन्दोलन पूरे उफान पर था ऐसे में...

भारत निर्वाचन आयोग: गठन एवं कार्य

निर्वाचन लोकतंत्र का आधार है। भारतीय संविधान में लोकसभा एवं राज्यों की विधानसभाओं एवं स्थानीय निकायों के सदस्यों को चुनने के लिए वयस्क मताधिकार प्रणाली...

भक्ति आन्दोलन : उद्भव एवं विकास

भक्ति आन्दोलन मध्यकालीन इतिहास का ऐसा दौर जहाँ इस्लाम धर्म अनेक हिन्दुओं द्वारा अपनाया जा रहा था, हिन्दू धर्म व समाज की स्थिति का स्तर...

पल्लव वंश : पल्लवों का राजनीतिक इतिहास

पल्लव वंश : पल्लवों का राजनीतिक इतिहास आरंभ में पल्लव सातवाहनों के अधीनस्थ थे परंतु बाद में उन्होंने अपनी स्वतंत्र सत्ता स्थापित कर ली तथा...

भारत के प्रमुख लोक नृत्य : Important Folk Dances of India

प्रमुख लोक नृत्य भारत की संस्कृति विविध है। प्रत्येक राज्य की अपनी अलग ही भाषा और सांस्कृतिक पहचान है। इसी तरह राज्यों की अलग ही...

अकबर की धार्मिक नीति

अकबर की धार्मिक नीति मुगल साम्राज्य के संस्थापक बाबर ने किसी व्यवस्थित या योजनाबद्ध धार्मिक नीति की शुरुआत नहीं की थी। निजी तौर पर बाबर...

मथुरा कला शैली

मथुरा कला मथुरा कला शैली गांधार शैली के समान ही कुषाण काल में प्रचलित थी। मथुरा इस शैली का एक विशाल केंद्र था। यहां असंख्य...

गांधार कला शैली

गांधार कला शैली कुषाण काल का मूर्तिकला की दृष्टि से खास महत्व है। इस समय मूर्तिकला के दो प्रमुख केंद्र थे; पहला गांधार तथा दूसरा...

स्वराज्य दल : गठन, उद्देश्य एवं उपलब्धियां

05 फरवरी 1922 को चौरी चौरा की घटना के बाद असहयोग आन्दोलन को रोक दिया गया। जब आन्दोलन पूरे उफान पर था ऐसे में...

भक्ति आन्दोलन : उद्भव एवं विकास

भक्ति आन्दोलन मध्यकालीन इतिहास का ऐसा दौर जहाँ इस्लाम धर्म अनेक हिन्दुओं द्वारा अपनाया जा रहा था, हिन्दू धर्म व समाज की स्थिति का स्तर...

पल्लव वंश : पल्लवों का राजनीतिक इतिहास

पल्लव वंश : पल्लवों का राजनीतिक इतिहास आरंभ में पल्लव सातवाहनों के अधीनस्थ थे परंतु बाद में उन्होंने अपनी स्वतंत्र सत्ता स्थापित कर ली तथा...

वित्त आयोग : गठन एवं कार्य

वित्त आयोग अनुच्छेद 280 से 281वित्त आयोग एक संवैधानिक संस्था है। इसका गठन अनुच्छेद 280 के अधीन राष्ट्रपति द्वारा प्रत्येक 5 वर्ष की समाप्ति पर...

लोकसभा : संरचना, शक्तियाँ एवं कार्य

लोकसभा लोकसभा जनता के द्वारा प्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित प्रतिनिधियों का सदन है। ज्ञातव्य है कि भारत में लोकसभा का प्रथम आम चुनाव कुल 489...

भारत निर्वाचन आयोग: गठन एवं कार्य

निर्वाचन लोकतंत्र का आधार है। भारतीय संविधान में लोकसभा एवं राज्यों की विधानसभाओं एवं स्थानीय निकायों के सदस्यों को चुनने के लिए वयस्क मताधिकार प्रणाली...

Advertisement


Follow Us

2,005फैंसलाइक करें
202फॉलोवरफॉलो करें
9सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

Popular Posts