अणु और परमाणु Atoms and Molecules : सामान्य विज्ञान

अणु और परमाणु

पदार्थ जिन सूक्ष्म कणों से बना होता है उन्हें मोटे तौर पर दो प्रकारों ने बांटा जा सकता है पहला अणु और दूसरा परमाणु।

पदार्थ की अवस्थाएं

अणु (Molecules)

किसी पदार्थ (तत्व या यौगिक) का वह सूक्ष्म कण जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता है, परंतु रासायनिक अभिक्रियाओं, प्रतिक्रियाओं में भाग नहीं ले सकता तथा जिसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं, अणु कहलाता है।

एक पदार्थ के सभी अणु हर प्रकार से एक दूसरे के समान होते हैं; द्रव्यमान, आकार तथा गुण आदि के दृष्टिकोण से एक ही तत्व या यौगिक एक दूसरे से अभिन्न अंग होते हैं। परंतु किन्ही दो भिन्न पदार्थों के अणु एक दूसरे से बिल्कुल अलग किस्म के होते हैं। उदाहरण के लिए जल के सभी अणु आपस में समान होते हैं।

जल के प्रत्येक अणु का सापेक्ष आण्विक द्रव्यमान 18 (H2O में ऑक्सीजन O – 16 हाइड्रोजन H2 – 1+1) होता है। इसके अणुओं के भौतिक तथा रासायनिक गुण इनके आकार, द्रव्यमान आदि पूरी तरह समान होते हैं। इसी प्रकार नमक के सभी अणु परस्पर एक समान होते हैं। नमक के प्रत्येक अणु का सापेक्ष द्रव्यमान 58.5 होता है तथा इसके सभी और आकार गुण आदि में सदृश होते हैं। परंतु जल के अणु तथा नमक के अणु एक दूसरे से पूरी तरह भिन्न होते हैं।

अणुओं के बीच लगने वाले आकर्षण बल को अंतर आणविक आकर्षण बल कहा जाता है। इसी बल के कारण पदार्थ के अनगिनत अणु ठोस एवं तरल अवस्था में एक साथ जुड़े रहते हैं। परंतु पदार्थ को गैसीय अवस्था में बदल देने पर अणु एक दूसरे से दूर-दूर हो जाते हैं।

अणु दो प्रकार के होते हैं :- तत्व के अणु एवं यौगिक के अणु। जब एक ही तत्व के एक से अधिक परमाणु मिलकर उसके सूक्ष्मतम स्वतंत्र कणों का निर्माण करते हैं तो ये कण तत्व के अणु कहलाते हैं। उदाहरण के लिए हाइड्रोजन का एक अणु हाइड्रोजन के दो परमाणुओं से मिलकर बना होता है।

जब एक से अधिक तत्वों के परमाणु परस्पर मिलकर सूक्ष्म स्वतंत्र कणों का निर्माण करते हैं तो ये यौगिक के अणु कहलाते हैं। उदाहरण के लिए मिथेन का प्रत्येक अणु कार्बन के एक परमाणु तथा हाइड्रोजन के चार परमाणुओं से मिलकर बना होता है।

परमाणु (Atoms)

परमाणु किसी पदार्थ (अर्थात् तत्व) का वह संभव सूक्ष्मतम कण जो स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकता परंतु रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेता है तथा जिसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं, परमाणु कहलाता है।

डाल्टन के अनुसार परमाणु अविभाज्य था, परंतु आधुनिक खोजों से यह ज्ञात हो चुका है कि परमाणु भी सूक्ष्म कणों से मिलकर बना होता है , जिनमें इलेक्ट्रॉन, प्रोटोन एवं न्यूट्रान मुख्य हैं। किसी तत्व के सभी परमाणु समरूप एवं सदृश होते हैं किंतु दूसरे तत्वों के परमाणु से बिल्कुल भिन्न होते हैं।

एक तत्व के परमाणु का भार भी दूसरे तत्व के परमाणु के भार से भिन्न होता है। उदाहरण के लिए हाइड्रोजन के सभी परमाणु एक समान एवं एक रूप होते हैं और कार्बन के सभी परमाणु आपस में समरूप एवं सदृश होते हैं किंतु हाइड्रोजन और कार्बन के परमाणु एक दूसरे से पूरी तरह से भिन्न होते हैं।

अणु और परमाणु में अंतर

अणुओं और परमाणुओं में निम्नलिखित अन्तर हैं :-

  • परमाणु अणु से छोटे होते हैं।
  • अणु परमाणुओं से बनते हैं जबकि परमाणु इलेक्ट्रान, प्रोटोन एवं न्यूट्रान से।
  • परमाणु स्वतंत्र रूप से नहीं रह सकते। अणु स्वतंत्र रूप से रह सकते हैं।
  • रासायनिक क्रियाओं में परमाणु भाग लेते हैं न कि अणु।
  • सामान्यतः अणुओं का विभाजन किया जा सकता है, परमाणुओं का नहीं। परमाणुओं का विखंडन विशेष परिस्थितियों में ही किया जा सकता है।
  • अणुओं में उस पदार्थ के सभी गुण धर्म पाए जाते हैं, परमाणुओं में नहीं।
  • परमाणु किसी न किसी तत्व के ही होते हैं। अणु तत्व और यौगिक दोनों के होते हैं।

सार संक्षेप

किसी पदार्थ (तत्व या यौगिक) का वह सूक्ष्म कण जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता है, परंतु रासायनिक अभिक्रियाओं, प्रतिक्रियाओं में भाग नहीं ले सकता तथा जिसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं, अणु कहलाता है।

किसी पदार्थ (अर्थात् तत्व) का वह संभव सूक्ष्मतम कण जो स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकता परंतु रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेता है तथा जिसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं, परमाणु कहलाता है।

दोस्तों के साथ शेयर करें

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.