भारत का आर्थिक भूगोल

भारत का आर्थिक भूगोल

भारत में फसल उत्पादन

  • विश्व में चावल के उत्पादन में भारत का चीन के बाद दूसरा स्थान है।
  • भारत में विश्व का लगभग 20% चावल पैदा किया जाता है।
  • चावल दक्षिण भारत और पूर्वी भारत के लोग का मुख्य भोजन है।
  • गेहूं भी घास प्रजाति का एक अनाज है।
  • गेहूं प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत है।
  • भारत विश्व का सबसे अधिक क्षेत्र में गेहूं बोने वाला देश है परन्तु उत्पादन में चीन के बाद दूसरे स्थान पर है।
  • भारत दुनिया में सबसे अधिक पशु संख्या वाला देश है।
  • सबसे अधिक दूध उत्पादन भारत में होता है।
  • बाजरे के उत्पादन में भी भारत प्रथम है।
  • जूट का सबसे अधिक उत्पादन भारत में ही होता है।
  • आम, केले और पपीते के उत्पादन में भी भारत प्रथम स्थान पर है।
  • चाय उत्पादन में भारत का स्थान दूसरा है। पहले स्थान पर चीन है।
  • भारत गन्ने का दूसरा बड़ा उत्पादक देश है। पहले स्थान पर ब्राजील है।
  • जूट के उत्पादन में भारत पहले स्थान पर है।

मुख्य फसलें और उनके उत्पादक राज्य

क्रमांकफसल/अनाजमुख्य उत्पादक राज्य
1कुल अनाजउत्तर प्रदेश, पंजाब, मध्य प्रदेश।
2चावलपश्चिम बंगाल, पंजाब, उत्तरप्रदेश।
3गेहूंउत्तरप्रदेश, पंजाब, हरियाणा।
4मक्काकर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र।
5ज्वारमहाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश।
6बाजरागुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश।
7जौउत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार, पंजाब।
8दालेंमध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश।
9आलूपश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, बिहार।
10प्याजमहाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात।
11मूंगफलीगुजरात, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु।
12सरसोंराजस्थान, हरियाणा, मध्यप्रदेश।
13सोयाबीनमध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान।
14सूरजमुखीकर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र।
15कुल तिलहनमध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात।
16काजूकेरल, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश।
17चायअसम, पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु।
18काफीकर्नाटक, तमिलनाडु, केरल।
19गन्नाउत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु।
20काली मिर्चकेरल, कर्नाटक, तमिलनाडु।
21तंबाकूआंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, बिहार।
22कपासगुजरात, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश।
23जूट या पटसनपश्चिम बंगाल, बिहार, ओडिशा, असम।
24रेशमकर्नाटक।
25रबड़केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक।

 

 


ऋतुओं के आधार पर फसलों के प्रकार

रबी की फसल

  • बुआई – अक्टूबर-नवंबर।
  • कटाई – मार्च-अप्रैल।
  • फसलें – गेहूं, जौ, चना, मटर, सरसों, राई आलू आदि।

खरीफ की फसल

  • बुआई – जून- जुलाई।
  • कटाई – नवंबर- दिसंबर।
  • फसलें – धान, तिलहन आदि।

जायद अर्थात् गरमी की फसल

  • बुआई – मार्च, अप्रैल, मई, जून।
  • कटाई – जून-जुलाई ।
  • फसलें – ग्रीष्म कालीन मूंग, खीरा, ककड़ी आदि गरमी की सब्जियां।

अरहर एक ऐसी फसल है जो खरीफ में बोई जाती है तथा रबी में काटी जाती है।

मक्का ऐसी फसल है जिसे सभी ऋतुओं में उगाया जाता है।

धान मुख्यत: खरीफ की फसल है परन्तु कहीं-कहीं इसका गर्मियों में भी उत्पादन किया जाता है।

नकदी फसल :- ऐसी फसलें जो किसानों द्वारा व्यापार के उद्देश्य से उगाई जाती हैं। जैसे; कपास, गन्ना, तंबाकू, जूट आदि।

झूम खेती

वनवासी क्षेत्रों में की जाती है। इसमें जंगल को काट कर खेती के लायक बनाया जाता है। उस स्थान की उर्वरता कम या समाप्त हो जाने पर किसी दूसरी जगह पर जंगल को काट कर खेती के लायक बनाया जाता है। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में इस प्रकार की खेती की जाती है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.