वन आवरण

भारत में वन आवरण

राज्यों के राजस्व विभागों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार देश के 23.28% भू-भाग में वन आवरण क्षेत्र है। अर्थात् भारत में वन भूमि के अंतर्गत 23.28% जमीन आती है चाहे उसके कुछ हिस्सों में वन न हो या वन उजड़ गये हों। वास्तविक वन क्षेत्र में समय के साथ अंतर आता रहता है। इसमें कमी या बढ़ोतरी हो सकती है। इसलिए वास्तविक वन स्थिति पर प्रति दो साल में प्रतिवेदन प्रस्तुत करने की शुरुआत 1987 से की गई। 2017 की वन स्थिति रिपोर्ट 15वीं रिपोर्ट है। इसके मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं :-

भारतीय वन स्थिति रिपोर्ट 2017 के अनुसार भारत के 802088 वर्ग किमी में वन आवरण और वृक्षावरण है जिसमें से 708273 वर्ग किमी पर वन है, शेष में वृक्ष आवरण है।

भारत के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 21.54% भूभाग पर वन आवरण है तथा 02.85% भाग पर वृक्षावरण है इस प्रकार वन-आवरण और वृक्षावरण दोनों मिलाकर कर भारत भूमि का 24.39% है। किसी भौगोलिक क्षेत्र में वनावरण की न्यूनतम आदर्श स्थिति 33% है। इस हिसाब से भारत में वन आवरण की स्थिति संतोषजनक नहीं कही जा सकती। केवल 15 राज्य और केंद्र शासित क्षेत्र ऐसे हैं जहां 33% से अधिक भूभाग पर वन-आवरण है।

2015 की वन स्थिति के मुकाबले 2017 में वन आवरण में 6,778 वर्ग किमी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

इसी अवधि में वृक्ष आवरण में 1243 वर्ग किमी की वृद्धि देखी गई है।

इस प्रकार 2017 में 2015 से वन-आवरण और वृक्षावरण दोनों मिलाकर 8021 वर्ग किमी की बढ़त दर्ज की गई है।

75% से अधिक वन आवरण वाले राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों की संख्या 07 है। ये हैं- मिजोरम, क्षद्वीप, अंडमान-निकोबार, नागालैण्ड, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और मणिपुर।

ट्रिक : मि-ल-मान-नागा-अरु-मेघ-मणि।

33% – 75% तक वन आवरण वाले राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की संख्या 08 है। ये हैं – त्रिपुरा, गोवा, सिक्किम, केरल, दादरा नागर हवेली, छत्त-तीसगढ़, उत्तराखंड और असम

ट्रिक : त्रि-गो-सि, के दाद छत-खंड सम।

भारत के 12 राज्यों में कच्छ वनस्पतियों वाले क्षेत्र है। इनका कुल क्षेत्रफल 4921 वर्ग किमी है।

वन आवरण में वृद्धि वाले पांच राज्य हैं – आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, डिशा और तेलंगाना।

ट्रिक : अंधे काने के ओ तेल लगाना।

सर्वाधिक वन आवरण प्रतिशत वाले केंद्र शासित क्षेत्र/राज्य हैं :

लक्षद्वीप, मिजोरम और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह।

ट्रिक : लक्ष-मि-मान।

वन आवरण

सर्वाधिक वन क्षेत्रफल वाले राज्य :

  1. मध्य प्रदेश – 77,414 वर्ग किमी
  2. अरुणाचल प्रदेश – 66,964 वर्ग किमी
  3. छत्तीसगढ़ – 55,547 वर्ग किमी।

सार-संक्षेप

  • 2017 की वन स्थिति रिपोर्ट 15वीं रिपोर्ट है।
  • पहली बार वन स्थिति रिपोर्ट 1987 जारी की थी।
  • देश के 21.54% भाग में वन आवरण है।
  • देश के 2.85% भाग में वृक्ष आवरण है।
  • वन आवरण और वृक्षावरण दोनों मिलकर कर देश के भू-भाग का 24.39% है। जबकि पर्यावरण की दृष्टि से न्यूनतम 33% होना चाहिए।
  • सर्वाधिक वन क्षेत्रफल वाला राज्य मध्यप्रदेश है। दूसरे क्रम में अरुणाचल प्रदेश है। तीसरे नंबर पर छत्तीसगढ़ आता है।
Advertisement

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.